अलंकार
अलंकार की परिभाषा
                  भेद
                   उदाहरण

पढ़ने के लिये click here

अलंकार का शाब्दिक अर्थ 

अलंकार का शाब्दिक अर्थ है- सजावट, शृंगार, आभूषण आदि। साहित्यशास्त्र में अलंकार शब्द का प्रयोग काव्य सौन्दर्य के लिये होता है।

अलंकार के प्रकार

अलंकार तीन प्रकार के होते है- शब्दालंकार
अर्थालंकार
उभयालंकार

शब्दालंकार 7 प्रकार के होते हैं। इनमें अनुप्रास, यमक, श्लेष तथा वक्रोक्ति मुख्य है।

शब्दालंकार

अर्थालंकार

शब्दालंकार में किसी शब्द को हटाकर यदि उसका पर्याय रख दिया जाय, तो उस शब्द का सौन्दर्य नष्ट हो जाता है; अत: ऐसे अलंकारो की खोज हुई, 

उभयालंकार

जहाँ अलंकार का चमत्कार उसके शब्द और अर्थ दोनों में पाया जाए तो वहाँ उभयालंकार होता है। श्लेष अलंकार उभयालंकार की श्रेणी में आता है।