आज के समय में अस्थमा सबसे आम सांस रोगो में से एक है | महंगी से महंगी दवाइयां भी इस बीमारी में अपना कोई खास असर नहीं दिखा रही है। केवल योगी के एकमात्र सहारा है

अस्थमा की परेशानी से राहत पाने के लिए जिन योगासनों का अभ्यास करना चाहिए वह आगे दिए गए लेख में है।

शवासन के नियमित अभ्यास से अस्थमा की परेशानी से राहत मिलती है |

पादहस्तासन पीठ की मांसपेशियों को फैलाती है, आपको अधिक गहरी सांस लेने में मदद करती है |

सुप्त मत्स्येन्द्रासन शांती को बढ़ावा देती है और आपके धड़, पीठ और श्वसन की मांसपेशियों को लक्षित करती है।

त्रिकोणासन आपके शरीर और फेफड़ों के हिस्से को खुलती है ।

भुजंगासन छाती और गर्दन की मांसपेशियों को फैलाते हैं।

मत्स्यासन चिंता को दूर करने और हृदय को खोलने के लिए उपयोगी है |

पूर्वोत्तानासन श्वसन प्रक्रिया में सुधार करता है।

बधाकोनासन रक्त परिसंचरण को उत्तेजित और सुधारता है, थकान से राहत देता है ।

अधोमुख संभावना अस्थमा और साइनसिसिस से पीड़ित लोगों के लिए उपयोगी है |

ऐसी और अधिक जानकारी पाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

Vedic Shakti Yog